What Is Post Graduation Course In Hindi -Fees, Admission Process

क्या अपने ग्रेजुएशन कम्पलीट कर ली है और आगे की पढाई करना  चाहते हैं? आज इस पोस्ट में हम आपको  बतांएगे की कैसे आप पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं aur Post graduation kya hai? Kaise Karte hain.

क्या आप भी उन स्टूडेंट्स में से है जो अपनी पढ़ाई और अपने करियर को लेकर गंभीर तो है लेकिन साथ साथ ही आप चाहते है की आपको कुछ ऐसी जानकारी मिले जो आपके आगे की पढाई के लिए हेल्पफुल हो या आप अभी स्कूल कर रहे है तो आप जरूर जानना चाहते होंगे  की अआप्को आगे क्या करना चाहिए  गाइड लाइन जो हेल्प कर सके आपको आपका बढ़िया और मन पसंद फ्यूचर पाने में।

हमारी ये कोशिश आपकी मुश्किलें तो कम नहीं कर  सकती पर आपके लाइफ का वो बल्ब बन सकती है जो आपके रास्तों को रोशन कर  सके।अक्सर तो 12TH तक हम सब जानते है की हमे किस रस्ते पे चलना है कैसे चलना है?

क्युकी अक्सर बहूत लोग ये चाहते है की वो अपनी स्टडी कम्प्लीट करके जल्दी से जॉब ढूढ़ ले। और पैसे कमाने  लिए वो अपनी जॉब के लिए जरूरी स्टडी तो कर लेते है पर उसके बाद की पढाई को जरूरी नहीं समझते। तो आइये जानते की बस उतनी पढाई जरूरी है जितना आप समझते  है.

  पोस्ट ग्रेजुएशन क्या है(What is Post Graduation)

पोस्ट ग्रेजुएशन एक हाई लेवल डिग्री है , जो आपके करियर के लिए बहुत जरूरी है। आइये अब जानते है पोस्ट  ग्रेजुएशन क्या है?पोस्टग्रेजुएशन  कैसे करते है ? ये कैसे मदद करता है हमारी मंजिल पाने में ? और भी ऐसे प्रश्नो के उत्तर जानने के लिए हमारे आज के इस आर्टिकल को Step By Step समझिये यहाँ पे हमने अपनी पूरी कोशिस की है पोस्ट ग्रेजुएशन को विस्तार से समझने की। 

Post Graduation Basic Jankari  

पोस्ट ग्रेजुएशन ,ये कोर्स  हम अंडर ग्रेजुएट कोर्स करने के बाद करते है। Under Graduation कोर्स को हम short में UG  बोलते है जिसके अंतर्गत हम अपनी 12TH कम्प्लीट करने के बाद की पढाई करते है। जिसमें BA ,B.Sc , B .Com , B .Tech आदि करते है। और कुछ स्टूडेंट्स UG(Undergraduate ) तक पढ़ाई करने क बाद ये सोचते है की इससे वो जॉब पा जायेंगे अब आगे की पढ़ाई जरुरी नहीं ये बस  उनकी गलतफेहमी  है क्युकी अगर वो ऐसा सोचने के बजाय अपना पोस्ट ग्रेजुएट का कोर्स कम्प्लेटे करते है तो उन्हें उनके जॉब में प्रमोशन के चान्सेस भी बढ़ जाते है।  पोस्ट ग्रेजुएशन को ही हम PG  बोलते है। पोस्ट ग्रेजुएशन के अंतर्गत क्या कोर्स  है कैसे करते है फीस और जॉब क्या है इसको करने के बाद.

Post Graduate  होने की योग्यताएं 

PG (Post Graduate ) होने  आपको UG(Undergraduate ) होना जरुरी है। आप चाहे किसी भी सब्जेक्ट से UG हो,आप PG कर  सकते है .PG करने के लिए अनिवार्य है की आप उसी सब्जेक्ट्स से PG(Postgraduate ) कर   सकते है जिससे आपने UG कम्पलीट किया है। अतः आप अपने UG कोर्स के एडमिशन के समय ही कुछ प्रश्नो के उत्तर ढूढ़ ले जैसे की क्या आप इसी सब्जेक्ट्स से अपनी पढाई जारी रख सकेंगे , क्या आपके taken subjects में आपकी रूचि है क्या आप इस सब्जेक्ट्स से कामयाब हो सकते है या  नहीं .

इन सवालों के उत्तर जानने  बाद शायद आपको post ग्रेजुएट की मास्टर डिग्री पाने में कोई कठिनाई नहीं आएगी .और अगर आपके मन में भी ये विचार  है की  ug तक पढाई ठीक है तोह ये आने मन से निकल दीजिये। आगे बात करते है आपको क्या फायदा होगा post ग्रेजुएट की मास्टर डिग्री  प्राप्त के करने के बाद।

Post Graduate होने से फायदे है की नहीं 

किसी कोर्स को आप तभी करना चाहेंगे जब आपको कुछ फायदा हो,तो बिल्कुल फायदा है आपके PG (पोस्ट ग्रेजुएट) होने से। आइये जानते है क्या क्या लाभ मिलेगा आपको इस मास्टर डिग्री को हासिल करने के बाद  अगर आप किसी अच्छी फील्ड में जॉब करते है तो आंतरिक ज्ञान बहुत मायने रखता है और ऐसे में आपको प्रमोशन के लिए दी  वाली शर्तों में मास्टर डिग्री कोर्स जरुरी हो सकता है।

हम सभी जानते है की अब हर फील्ड कम्पटीशन अनिवार्य है ,और ऐसे में  अगर आप pg  (पोस्ट ग्रेजुएट ) रह चुके है तो आपको वो कॉन्फिडेंस मिलेगा जो आपकी बहुत मदद करेगा क्युकी इसके आपकी नॉलेज बढ़ेगी और आपको किसी कम्पटीशन को क्रैक करने में हेल्प मिलेगी। 

Must Read: Police Inspector Kaise Bane In Hindi [2021]

आप PG करने से अपनी  वर्तमान जॉब से कहीं ज्यादा हाई क्लास जॉब पा सकते हो कोई भी फील्ड हो आज भी शिक्षा बहुत ज्यादा जरुरी है,और  हमारी शिक्षा अच्छी है, PG  इसी की एक डिग्री है इसीलिए तो इसे हम मास्टर डिग्री के नाम से भी जानते है। आप अगर ये सोचते थे कि UG तक की पढाई ही सब कुछ है तो आप गलत थे। 

Post Graduate करने के लिए उपलब्ध Subjects 

जैसा की आपको आर्टिकल में पहले ही बताया गया है की आप जिस विषय से Undergraduate (UG ) है उसी से आपको पोस्ट ग्रेजुएट (PG )  होना पड़ेगा। इससे यह स्पष्ट है की Postgraduate (PG ) की डिग्री के लिए आपका UG  होना जरूरी है। यहाँ कुछ सब्जेक्ट्स है जो बैचलर( Undergraduate ) के बाद आपको मास्टर डिग्री( Postgraduate ) में पढ़ने होंगे। 

आपके पास ये कुछ common course है मास्टर  डिग्री (  पोस्ट ग्रेजुएट)  के  लिए 

अगर आपने  B.A (bachelor  of arts ) से अपनी UG (अंडर ग्रेजुएट ) की है तो आपके पास पोस्ट ग्रेजुएट के लिए  M.A (master of arts)  best option है .

  1. अगर आपने B.Sc (bachelor of science ) से अपना UG (undergraduate ) कम्प्लीट किया है तो आपके लिए master डिग्री M.Sc ( master of science )  है .
  2. अगर आपने B .tech ( bachelor of technology ) UG किया है तो आपके लिए मास्टर डिग्री के लिए M.Tech (master of technology ) उपलब्ध है। 
  3. आपने UG लिए B.COM ( Bachelor of commerce ) लिया है तो आपके लिए  बेस्ट मास्टर डिग्री M.COM  है. 

 ये कुछ common subjects थे जो ज्यादातर स्टूडेंट्स अपने इंटरेस्ट के अनुसार लेते है इसके  साथ साथ ऐसे ही और भी कोर्स है जो आप मास्टर डिग्री  के लिए ले सकते हैं जैसे

M.Res (master of research ); अगर आप researcher बनने में इंटरेस्ट रखते है तो ये कोर्स आपके लिए अच्छा रहेगा। इसमें आपको training  दी  जाएगी रिसर्च के  बारे मैं। 

M.Phil : ये भी एक मास्टर डिग्री( PG ) कोर्स है जिसके अंतर्गत आपको  विषय गहराई से बताया या सिखाया  जायेगा यह भी  रिसर्च पर  आधारित मास्टर डिग्री है. आपको ऐसे ही ऑप्शन और भी मिल जायेंगे पोस्ट ग्रेजुएट लिए. 

पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री ( मास्टर डिग्री)  प्राप्त  करने के बाद आप किसी भी हाई प्रोफाइल जॉब के लिए अप्लाई कर सकते है ये आपके करियर को आगे ले जाने में भी आपकी काफी मदद करेगा।

आपकी सैलरी भी आपकी मास्टर डिग्री के अकॉर्डिंग रहेगी इस कोर्स को करने बादआपकी स्किल डेवलपमेंट भी अच्छी होगी .

निष्कर्ष

आज के आर्टिकल में हमने आपके पोस्ट ग्रेजुएशन या मास्टर डिग्री से जुड़े doubt clear करने की कोशिस की  है उम्मीद है आपको इससे मदद मिली होगी। 

Leave a Comment