BHMS क्या होता है कैसे करें? Full Information In Hindi

अगर आपको भी मेडिकल फील्ड में रूचि है तो BHMS का कोर्स क्र सकते है.आज कल बहुत सारी एलोपैथिक दवाएं मार्केट में उपलब्ध है, और कई लोगों का विश्वास है इस पर. मगर कुछ लोग जिनको ये दवाएं असर नहीं करती या जो लोग अपने लिए नेचुरल दवाएं चाहते है , वो लोग होम्योपैथिक  दवाओं की तरफ रुख करते है,आज के समय में ऐसे लोगो  की संख्या बढ़ी है और होम्योपैथिक दवाओं का ग्रुप काफी तेज़ी से ग्रो कर rha है.

ऐसे में काफी स्टूडेंट्स है जो होम्योपैथिक के क्षेत्र  में आगे जाना चाहते है और इसी फील्ड में रहकर लोगो  की मदद करना चाहते है।  कुछ स्टूडेंट्स है जो इस फील्ड में जाना चाहते है पर उन्हें इसकी कहीं से सही जानकारी नहीं मिल रही है तो भी वो कुछ नहीं कर पाते और दूसरे फील्ड में जाने के लिए मजबूर हो जाते है।अगर सही समय पर सही जानकारी मिल जाये तो आप अपनी मंजिल बिना परेशानियों के पा सकते है।आइये जानते bhms के बारे में फुल इनफार्मेशन  हिंदी में –

BHMS Kya Hai

BHMS स्नातक  डिग्री का कोर्स होता है,जिसे मेडिकल स्टूडेंट्स कर सकते है , bhms करने के आप होम्योपैथिक डॉक्टर बन सकते है .इसे करने के बाद आपको कहा कहा जॉब के ऑप्शन मिलेंगे ये हम आपको इसी आर्टिकल में आगे बताएंगे इसके लिए आप हमारे इसआर्टिकल को ध्यान से पूरा पढ़े . 

BHMS का पूरा नाम( Full Name Of BHMS)

BHMS का पूरा  नाम bachelor of homeopathic medicine and surgery  (बैचलर ऑफ़  होम्योपैथिक  मेडिसिन  सर्जरी )होता  है ये एक स्नातक डिग्री कोर्स है।

BHMS कोर्स के लिए शैक्षिक योग्यता (Required Qualification )

जैसा की हमने आपको बताया की ये एक स्नातक डिग्री का कोर्स है तो इसके लिए आपको 12TH पास करना होगा 12TH में आपके कम से कम  50 या 60 % अंक अनिवार्य है।  अगर  आप BHMS  कोर्स करना चाहते है तो आपको 12TH में साइंस स्ट्रीम से पढ़ना होगा क्युकी आप एक डॉक्टर बनने की तैयारी कर रहे है, आपको फिजिक्स ,केमिस्ट्री, बायोलॉजी तथा इंग्लिश सब्जेक्ट पर खास ध्यान देना चाहिए.

Related Post: Top 10 Tips For SSC की तैयारी कैसे करें In Hindi

BHMS के लिए निर्धारित उम्र( Required Age For BHMS Students )

ये एक प्रकार का ग्रेजुएशन  कोर्स है  इसे करने के लिए आपकी उम्र 17 -18 वर्ष होनी चाहिए।

BHMS कोर्स करने के फायदे 

  अब हम आपको बताएंगे की BHMS करने के क्या फायदे है –

bhms करने से डिग्री मिल जाएगी और आप करने के योग्य हो जायेंगे अगर पूरी एवं निष्ठा से होम्योपैथी की जानकारी ली हो अतः आपको इसका अच्छा ज्ञान हो चूका हो तो आप कहीं भी मेडिकल फील्ड में जॉब कर सकते है या आप चाहे तो आपका एक खुद का अस्पताल खोल सकते है और आप चाहे तो इस डिग्री  के बाद आप प्राइवेट और सरकारी दोनों फील्ड में जॉब  के लिए अप्लाई कर सकते है. इसके साथ साथ अगर आप और आगे पढ़ना चाहे तो ग्रेजुएशन  के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स भी कर  सकते है BHMS करने के बाद।

BHMS Subject List 

bhms के अंतर्गत आपको कौन कौन से subjects  होंगे उनकी सूचि निम्न है-

1. Materia Medica 2. Organon of Medicine 3. Anatomy
4. Physiology & Biochemistry 5. Community Medicine 6. Repertory

ऐसे ही और भी Subjects  पढ़ाये जायेंगे BHMS  कोर्स के अंतर्गत.

BHMS कोर्स( BHMS Course)

इसके अंतर्गत आपको निम्न कोर्स का अध्ययन  करना होता है

  • होम्योपैथिक फार्मेसी
  • पेडियाट्रिक्स
  • साइकाइट्री
  • स्किन स्पेशलिस्ट
  • इनफर्टिलिटी एंड सेक्स Specialist  

BHMS कोर्स करने के बाद  जॉब Opportunity 

दोस्तों अगर आप BHMS (Bachelor of homeopathic medicine and surgery )का कोर्स कंप्लीट कर लेंगे तो आप के लिए कहा कहा जॉब  के ऑप्शन है हम आपको इसके बारे में बताएंगे।

आज  कल अक्सर लोग  एलोपैथिक  दवाइयों से असंतुष्ट मिलते है इसके लिए वो सारे लोग होम्योपैथिक दवाइयों और  हॉस्पिटल्स  की तलाश करते है , जबकि आप दैनिक जीवन में देख सकते है की एलोपैथिक  दवाइयों के हॉस्पिटल्स की तुलना में होम्योपैथिक हॉस्पिटल्स बहुत कम है और प्रतिदिन होम्योपैथिक दवाइयों की मैग बढ़ती जा रही है। 

Must Read: BDS Kya Hai Kaise Kare? Course, Fees, Job Aur Salary Detail

ऐसे में अगर आप bhms करके होम्योपैथिक का अच्छा ज्ञान प्राप्त कर  लेते है तो आप अपना खुद का छोटा सा हॉस्पिटल शुरू कर सकते  है जिससे आपको अच्छी खासी आमदनी हो जाएगी इसके अलावा आप किसी भी अस्पताल में जॉब कर सकते है जैसे दवाइयां  पैक करना दवाइया देना दवाइयों का हिसाब किताब रखना इत्यादि।

इस दौरान अगर कोई भर्ती निकलती है इससे सम्बंधित तोह आप उसके लिए भी अप्लाई कर सकते है क्योंकि आप ग्रेजुएट हो चुके है तो बहुत सी भर्तियां  निकलती है डॉक्टर से सम्बंधित जिसमें आप आवेदन कर सकते है।  

Job Type

  1. Doctor
  2. Consultant
  3. Pharmacist
  4. Private Practice
  5. Pubic Health Specialist
  6. Researcher
  7. Teacher 

Job fields

ये कुछ Job fields की सूचि है जहां आपको bhms करने के बाद आपको आसानी से जॉब मिल सकता है.

  1. Clinic
  2. Charitable Institution
  3. Consultancies
  4. Medicine Store
  5. Hospitals
  6. Medical College
  7. Research Institute
  8. Training Institute
  9. State Dispensaries
  10. Pharmacies

BHMS कैसे करें( How To Do BHMS)

  आइये जानते है की BHMS कैसे करें , BHMS करने  के लिए  आपको 10TH से ही मेहनत करनी पड़ेगी , और इसके बाद आपको 12TH पास करना है जिसमे आपको साइंस स्ट्रीम से पढाई करनी  है आपके मुख्या सब्जेक्ट है- फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी इसके साथ साथ आपको अपनी इंग्लिश पर भी ध्यान देना होगा क्योकि आज के समय में आप इंलिश नहीं जानते है तो आपको एक कमजोर स्टूडेंट समझा जाता है तथा इंग्लिश जानने पर आपको कोई भी परीक्षा देने में हिचकिचाहट नहीं होती.

12TH पास करने के बाद आप BHMS  एंट्रेंस एग्जाम देने के योग्य माने जाते है , आपको BHMS  एंट्रेस एग्जाम लिए आवेदन करना होगा , और पूरी लगन  से तयारी करनी होगी .अगर आप इंट्रेंस एग्जाम क्लियर करते है तो आपको अच्छे कॉलेज  में BHMS के लिये एडमिशन मिल जायेगा , जहा  से  आप BHMS करके अपने ग्रेजुएशन   की डिग्री  प्राप्त  कर सकते  है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज के पोस्ट  में हमने जाना की BHMS क्या होता है? इसे कैसे करें , इसके लिए आवश्यक योग्यताएं क्या क्या है  है , दोस्तों BHMS  एक  मेडिकल  फील्ड का कोर्स है  , जिसका पूरा  नाम बैचलर ऑफ़ होमेओपेथिक मेडिसिन एंड सर्जरी  होता है ये एक स्नातक डिग्री कोर्स है  जिसको कम्प्लेटे करने के बाद आप होमियोपैथ से जुड़े फील्ड में जॉब कर सकते है।  और अगर आप चाहे तोह इसके आगे अपने पोस्ट ग्रेजुएशन की पढाई भी कर सकते है  . हम आशा करते है आपके  मन में BHMS को लेकर कोई डाउट नहीं होगा , और अगर कोई सवाल या सुझाव है तोह आप हमे कमेंट करके जरूर बताये।  अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी हो तोह आप इसे अपनी फ्रंड के साथ शेयर जरूर करें।  

  

 

 

Leave a Comment